a-girl-who-disappeared-after-making-star-salman-khan-overnight

वो अजनबी लड़की, जो सलमान खान को रातों-रात स्टार बनवाकर गायब हो गई!

सूरज बड़जात्या डायरेक्टर, प्रोड्यूसर, राइटर एंड डिस्ट्रीब्यूटर और फिलहाल राजश्री प्रोडक्शन के चेयरमैन है.लेकिन उनका  करियर इतना सफल होगा यह उन्हें भी नहीं पता था.वह जब 16 साल की उम्र के थे तभी से वह फिल्म मेकर बनना चाहते थे इसका यह भी एक कारण था कि उनकी कई पिछली पीढ़ियां फिल्म मेकिंग के बिजनेस में थी.”राजश्री प्रोडक्शन” जो एक बड़ा प्रोडक्शन हाउस है. उसकी नींव उनके दादा श्री ताराचंद बड़जात्या ने की थी.

सूरज अपने फिल्म मेकिंग के करियर को लेकर गंभीर थे उसके लिए उन्होंने अपनी पढ़ाई छोड़ महेश भट्ट को असिस्ट करना शुरू कर दिया और साथ-साथ अपनी फिल्म के लिए स्क्रिप्ट भी लिखना शुरु कर दी .स्क्रिप्ट पूरी हो जाने के बाद उन्होंने स्क्रिप्ट अपने पिता राजकुमार  बडजात्या को  दिखाई. लेकिन उन्हें यह स्क्रिप्ट पसंद नहीं  आई तब उन्होंने कहा “जिस उम्र में अभी तुम हो उस उम्र के हिसाब से फिल्म बनाओ”. इसके बाद उन्होंने सूरज को एक राजस्थानी लोक कथा की एक लाइन सुनाइए वह लाइन थी “एक बंजारा बाप अपनी बेटी को अपने दोस्त के पास छोड़ गया वापस लौटा तो देखा वहां उसकी बेटी की बेजती हो रही है” सूरज ने इसी लाइन पर स्क्रिप्ट  लिखनी शुरू कर दी.

स्क्रिप्ट को पूरा होने में  कुल 10 महीने लगे जब यह कहानी पूरी हुई तो इस फिल्म का नाम रखा गया “मैंने प्यार किया” मगर जब इस फिल्म के लीड एक्टर के रोल की बात आई तो ऐसा  बिल्कुल नहीं था कि यह फिल्म सीधा सलमान खान के पास पहुंची. इस फिल्म को उसका लीड एक्टर मिलने में थोड़ा समय लगा. इस फिल्म ने हिंदुस्तान को उसका सुपरस्टार दिया जो आज भी सुपरस्टार है जिसकी जगह आज तक कोई नहीं ले सका और ना ही ले पाएगा लेकिन जानने वाली बात यह है कि जिस फिल्म ने सलमान खान को सुपरस्टार बनाया आखिर वह फिल्म भाईजान के पास पहुंची कैसे?

सलमान खान तक पहुंची फिल्म

लीड एक्टर की तलाश जारी हुई तभी 1960 में पीयूष मिश्रा जो ड्रामा की पढ़ाई कर रहे थे और थर्ड ईयर में थे उन्हें डायरेक्टर मोहन मिश्रा ने बुलाया पहुंचने के बाद पीयूष को पता चला कि वहां पहले से बैठे राजकुमार बड़जात्या उनके बेटे सूरज की फिल्म के लिए एक्टर ढूंढ रहे हैं पीयूष को कार्ड दिया और बोला गया कमल मंदिर आकर मुझसे मिलना लेकिन वह वहां नहीं पहुंचे. एक बार फिर से तलाश शुरू हुई अब तलाश फराज खान पर जाकर रुकी जिन्हें “मैंने प्यार किया” के लिए साइन कर लिया गया लेकिन उनकी तबीयत खराब होने के कारण वह यह फिल्म नहीं कर पाए.

 एक्टर के साथ साथ फिल्म की एक्ट्रेस के लिए भी ऑडिशन चल रहे थे मॉडल शबाना दत्त भी ऑडिशन दे रही थी बातों बातों में सूरज ने शबाना से पूछा कि अगर कोई एक्टर उनकी नजर में हो तो वह बता सकती हैं. शबाना ने हाल ही में एक फिल्म का एड  सलमान के साथ की थी उन्होंने सलमान का नाम सूरज को बताया. सलमान को फोन कर बुलाया गया पहली बार सलमान खान को सूरज ने रिसेप्शन पर देखा उस समय सलमान काफी दुबले पतले थे इसी कारण सूरज को डाउट था कि वह इस फिल्म के लिए ठीक है कि नहीं.

सलमान की एक्टिंग देखने के लिए सूरज “बीवी हो तो ऐसी” के सेट पर पहुंचे जिसमें सलमान एक छोटा सा रोल निभा रहे थे जब सलमान खान ने उन्हें सेट पर देखा तो वे उनके साथ काफी गर्मजोशी से मिले लेकिन जब सूरज ने उन्हें बताया कि उनका रोल अभी फाइनल नहीं हुआ है तो उन्होंने कई और एक्टर के नाम सूरज को बताएं ताकि वे अपनी फिल्म के लिए किसी और को साइन कर ले. उनकी इसी अच्छाई ने सूरज को उन्हें साइन करने के लिए मजबूर कर दिया लेकिन जब तक भाईजान फाइनल हुए तब तक शबाना गायब हो गई. सलमान खान और सूरज बड़जात्या दोनों ने शबाना को ढूंढने की बहुत कोशिश की लेकिन वह नहीं मिली.

फिल्म की लीड एक्ट्रेस राजकुमारी भाग्यश्री

अब बारी थी हीरोइन की तलाश की सूरज मैंने प्यार किया के लिए न्यू लीड एक्ट्रेस देख रहे थे क्योंकि फिल्म का बजट इतना नहीं था कि वह किसी फेमस लीड एक्ट्रेस को साइन कर सकें. सूरज का मन श्रीदेवी को साइन करने का भी था लेकिन ऐसा हो नहीं सका क्योंकि  श्रीदेवी उस समय कई ब्लॉकबस्टर फिल्मों में काम कर चुकी थी.

हीरोइन की तलाश उन्हें इलाहाबाद तक ले गई . राजा साहब ट्रेन से सफर कर रहे थे उनकी ट्रेन स्टेशन पर जाकर रुकी तभी उनकी नजर सामने पड़ी एक मैगजीन पर पड़ी, मैगजीन के फ्रंट पेज पर भाग्यश्री पटवर्धन की फोटो थी फोटो को देखकर उन्हें भाग्यश्री अपनी फिल्म के लिए परफेक्ट लगी. राजकुमार बड़जात्या भाग्यश्री के पिताजी को जानते थे वह उनके घर भाग्यश्री को साइन करने पहुंचे लेकिन राजा साहब  फिल्मों में काम करने के खिलाफ थे लेकिन बाद में वे मान गए और तब जाकर सूरज को उनकी फिल्म के लिए हीरो हीरोइन दोनों मिल गए.

मैंने प्यार किया 29 दिसंबर 1989 में रिलीज हुई और यह फिल्म ब्लॉकबस्टर हिट रही. फिल्म के लिए सलमान खान को 31000 रुपए मिले थे लेकिन यह फिल्म इतनी सुपरहिट रही कि बाद में सलमान खान को बढ़ाकर 75000रुपए दिए गए.

इस फिल्म के बाद बहुत से डायरेक्टर सलमान खान और भाग्यश्री को साइन करना चाहते थे लेकिन भाग्यश्री ने इस फिल्म के कुछ समय बाद ही हिमालय जो की फिल्म एक्टर थे उनसे शादी कर ली और उनके साथ कई फिल्मों में काम किया. “मैंने प्यार किया” ने फिल्मफेयर में 6 अवार्ड जीते इस फिल्म का रिकॉर्ड बाद में शाहरुख खान और काजोल की फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे ने तोड़ा.


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *