सीएम योगी: "दीपावली पर चीन से नहीं आएंगे लक्ष्मी-गणेश और दीए"

कोरोनावायरस के इस बड़ते ख़तरे में कई देश चीन से नाख़ुश है । सबको लग रहा है की यदि चीन चाहता तो पहले ही पूरे विश्व को इस संकट के बारे में बता सकता था । वे इस महामारी के बारे में विस्तार से बता कर देशों को पहले से ही संकेत दे सकते थे की यह बहुत ख़तरनाक और जान लेवा हो सकता है ।

योगी आदित्यनाथ , जो उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री है , ने लोगों को आत्मनिर्भर बनने की प्रेरणा दी । इन्होंने उत्तर प्रदेश की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए कई क़दम उठाए जिनमे से एक लोगों को लोन देना भी है । केंद्रीय के आर्थिक पैकेज की घोषणा हुई ही थी कि योगी आदित्यनाथ ने केवल एक ही क्लिक से लोगों को दो हज़ार से ले कर दो करोड़ तक पैसे लोन में दिए। यह देश का पहला राज्य है जिसने इस महामारी के दौरान इतने भारी रक़म का लोन दिया है ।

इन्होंने MSME से जुड़े लोगो को प्रेरणा दी और उनका मनोबल भी बढ़ाया। इन्होने सबको चीन पर निर्भर होने से मना किया है ।

दीपावली के अवसर पर चीन के बाज़ार से गणेश एवं लक्ष्मी की मूर्ति ही नही बल्कि दीप भी वही से आते थे। पर योगी आदित्यनाथ ने कहा की इस बार चीन से मूर्तियाँ नही आएँगी और उसे गोरखपुर में बनाया जाएगा ।

जानकारी के लिए , गोरखपुर चीन से बेहतर मूर्तियाँ बनाता है। इसलिए मुख्य मंत्री ने साफ़ कहा कि इस बार मूर्तियाँ चीन से नही लाई जाएँग़ी । उन्होंने कहा कि गोरखपुर के टेरोकोटा को बढावा दिया जाएगा। अयोध्या में पिछले वर्ष 51000 दीपक जलाए गए थे और पूरे उत्तर प्रदेश में खोजने के बाद इन 51000 दीपकों का इंतजाम हो पाया था।

पिछले वर्ष दीपावली के शुभ अवसर पर योगी आदित्यनाथ ने सरयू घाट पर 5.5 लाख दीपक जलाने का भव्य आयोजन किया था। इस आयोजन पे 1.3 करोड़ से ज़्यादा ख़र्चा हुआ था। срочный займ на карту


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *