फ़ेक न्यूज चेक: कोरोनावायरस वैक्सीन COVID-19 IgM 3 घंटे के भीतर रोगी को ठीक करने में सक्षम है?

नवीनतम अफवाहों के अनुसार, एक कथित कोरोनावायरस वैक्सीन जिसे COVID-19 IgM कहा जाता है, मरीज को 3 घंटे के भीतर ठीक कर सकती है।

कोरोनावायरस के प्रकोप के मद्देनजर, इंटरनेट पर बहुत सी फेक न्यूज़ फैल रही हैं। हाल ही में अमेरिकी वैज्ञानिकों द्वारा विकसित किए जा रहे कोरोनावायरस वैक्सीन के बारे में फर्जी खबरें व्हाट्सएप पर शेयर हो रही हैं। कहा जा रहा है कि अमेरिकी वैज्ञानिकों ने वैक्सीन विकसित कर ली है और कंपनी Roche को अगले रविवार को वैक्सीन लॉन्च करने का आदेश दिया है। यह खबर जंगल की आग की तरह फैल गई।

कोरोनावायरस वैक्सीन अफवाह किसके द्वारा शुरू की गई थी?

एक इंस्टाग्राम प्रोफ़ाइल Tooro Television ने अफवाह की शुरुआत हुई। इसने SGTI-flex COVID-19 IgM/IgG के पाउच की एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें दावा किया गया कि यह कोरोनावायरस वैक्सीन है। यहां इंस्टाग्राम पोस्ट का स्क्रीनशॉट है, एक बार देखिए।

यह खबर हमारी जाँच के अनुसार गलत है। यह वास्तव में आईजीएम परीक्षण किट है न कि वैक्सीन । किट को SGTi-flex COVID-19 IgM / IgG कहा जाता है ।

फ़ेक न्यूज चेक: कोरोनावायरस वैक्सीन

  • कंपनी Sugentech के अनुसार, जो इसे बनाती है, किट सोने के नैनोपार्टिकल-आधारित इम्युनोक्रोमैटोग्राफिक से बनी है, जिसका उपयोग आईजीएम और आईजीजी के निर्धारण के लिए किया जाता है।
  • कंपनी सुगेंटेक दक्षिण कोरिया में स्थित है।
  • यह भी उल्लेख किया गया है कि रोश फार्मास्यूटिकल्स को टीके लॉन्च करने का आदेश दिया गया है – यह भी गलत है।
  • रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंपनी रोश होल्डिंग और एजी जल्द ही टेस्ट किट लॉन्च करने वाली है ताकि यह पता लगाया जा सके कि कोई व्यक्ति कोरोनोवायरस के लिए पॉजिटिव है या नहीं।

Trending on Twitter

अपने बच्चों को आसानी से सिखाये गणित इस मजेदार ऐप से

срочный займ на карту онлайн


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *