लघु व्यवसायों के द्वारा भारत में कमाए अधिक आय

हमारा देश युवाओं का देश है और हमारे देश का युवा किसी के लिए काम करने की बजाय अपना खुद का व्यवसाय करना चाहता है, परंतु व्यवसाय को शुरू करने में आने वाली धन की कमी के कारण व्यवसाय शुरू करने का सपना त्याग देता है। लेकिन, क्या आपको पता है कि आप कुछ विशेष कौशल और कम निवेश के साथ अपने खुद का लघु व्यवसाय शुरू कर सकते हैं!

बहुत सारे ऐसे व्यवसाय हैं जिन्हें कम पूंजी से शुरू किया जा सकता है और यह सभी भविष्य में आपको अच्छा रेवेन्यू दे सकते हैं।

आज हम इस आर्टिकल में आपको उन लघु व्यवसायों के बारे में बताने वाले हैं, जिनको आप आजमा कर, कम पूंजी के साथ, अच्छे पैसे कमा सकते हैं और स्वयं अपने बॉस बन सकते हैं। कुछ व्यवसाय तो ऐसे हैं जिन्हें आप घर में बैठकर संचालित कर सकते हैं। और अंत में हम यह बात करेंगे कि सरकार इन व्यवसायियों को आगे बढ़ाने के लिए कैसे आर्थिक तौर पर मदद कर रही है।

1)मोबाइल शॉप

JIO के आने के बाद से भारत में स्मार्टफोन का जो इस्तेमाल बढ़ा है, वह शायद ही किसी अन्य देश में इस स्तर पर बढा होगा। आज भारत के लगभग हर व्यक्ति के पास स्मार्टफोन है और भारत दुनिया में स्मार्टफोन का सबसे बड़ा बाजार बन कर उभरा है। इन सारे आंकड़ों को मिलाया जाए तो मोबाइल शॉप खोलना एक बहुत ही लाभकारी बिजनेस हो सकता है इसके लिए आपको बहुत अधिक पूंजी की जरूरत भी नहीं पड़ेगी बस एक छोटी सी दुकान से आप शुरुआत कर सकते हैं और कुछ अच्छे स्मार्टफोन जैसे रेडमी रियलमी सैमसंग आदि रख सकते हैं यह फोन कम बजट में मिलते हैं और हाथों हाथ बिक जायेंगे, जिस्से आपको जल्दी लाभ मिलने लगेगा।

2)सुगंधित मोमबत्तियां बनाना

भारत में सुगंधित मोमबत्तियां बनाने का लघु व्यापार बहुत अधिक विकसित हो रहा है क्योंकि सुगंधित मोमबत्तियां त्यौहार व समारोह के माहौल को बहुत ही आनंदमय और मनमोहक बना देती हैं, जिस कारण बाजार में इनकी मांग अधिक हो रही है। इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए बस आपको कच्चे माल में निवेश करने की आवश्यकता होगी। सुगंधित मोमबत्तियां बनाना बहुत आसान है तथा कोई भी व्यक्ति छोटे से प्रशिक्षण के साथ विभिन्न रंगों आकृतियों और विभिन्न सुगंध वाली मूर्तियां बनाकर बेच सकता है।

3)टिफिन बनाना

शहरी जीवन में विद्यार्थियों तथा नौकरी करने वालों के परिवार से दूर रहने के कारण टिफिन बनाने का उद्योग जोर पकड़ रहा है। जो विद्यार्थी या नौकरी पेशा नौजवान अपने घर से दूर रहता है, वह टिफिन मंगवा कर भोजन करने को ज्यादा प्राथमिकता देता है क्योंकि मैस का खाना उतना अच्छा नहीं होता। घरों में तैयार खाना डिब्बे में बंद कर उन तक पहुंचाया जाता है। यह बहुत ही आसानी से किया जाने वाला और एक लोकप्रिय व्यवसाय है, जिसे ग्रहणीयाँ भी शुरू कर सकती हैं। इस व्यवसाय की सफलता मुंबई के डिब्बे वालों के रूप में देखने को मिलती है।

4)नमकीन बनाने का उद्योग

भारतीयों को हमेशा से, चाय के साथ कुछ नमकीन और चटपटा खाना बहुत पसंद है। कुशल महिलाएं नमकीन बनाकर बाजार में उचित मूल्य पर बेच सकती हैं नमकीन बनाने के लिए बेसन के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के दाल जैसे उड़द मूंग चना आदि का उपयोग किया जा सकता है और इन्हें विभिन्न फ्लेवर्स में भी बनाया जा सकता है आजकल नमकीन बनाने का कारोबार तेजी से विकास ले रहा है और आप इससे अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

5)एक्वैरियम उद्योग

आज के समय में कई लोग अपने घर और ऑफिस की सुंदरता बढ़ाने के लिए एक्वैरियम खरीदना पसंद करते हैं। यह व्यवसाय बहुत ही आसान है और कम निवेश के साथ अपने घर में भी खोला जा सकता है। इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए बस आपको विभिन्न आकारों के एक्वेरियम और मछलियां खरीदने की जरूरत होगी। साथ ही साथ आप मछलियों की मांग को पूरा करने के लिए और व्यापार बढ़ाने के लिए विशेष टैंक रखकर उसमें मछलियों का प्रजनन भी करा सकते हैं। इस व्यवसाय में अधिक लाभ कमाने के लिए आप अतिरिक्त सामान, जैसे; एक्वेरियम के लिए एयर पंप, मछलियों का खाना, सजावटी सामान, इत्यादि बेच सकते हैं।

6)रेस्टोरेंट्स और बेकरी कॉर्नर

आजकल शहरों की भीड़भाड़ वाले इलाके में छोटी सी जगह में रेस्टोरेंट व बेकरी कॉर्नर लगाना एक ट्रेंड बनता जा रहा है। यह सबसे ज्यादा आपको किसी कॉलेज के पास या किसी स्कूल के पास देखने को मिल सकता है, जहां छात्र-छात्राएं अपने खाली टाइम में वहां जाना पसंद करते हैं। इन इलाकों में रेस्टोरेंट और बेकरी कॉर्नर लगाना आपको अच्छा लाभ दिला सकता है। इसके लिए आपको छोटी सी जगह व खाद्य सामग्री की आवश्यकता होगी। आप इसमें विभिन्न प्रकार के खाद्य आइटम जैसे; चाट, पापड़ी, केक, समोसा, भेल, पिज़्ज़ा, बर्गर, इत्यादि रख सकते हैं। इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए 50 से ₹60 हजार की जरूरत पड़ती है और इससे मुनाफा बहुत ज्यादा होता है।

7)पापड़ बनाने का उद्योग

पापड़ बनाने का उद्योग आप अपने घर पर ही पापड़ तैयार कर शुरू कर सकते हैं। यह मूंग दाल, उड़द दाल के द्वारा तैयार किया जाता है। पापड़ की बाजार में बिक्री इस उद्योग को अच्छा व्यवसाय बना रही है। इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आप को 20000 से 25000 की पूंजी की आवश्यकता होगी। यह व्यवसाय उन ग्रहणीयों के लिए काफी लाभ कारक है, जो आर्थिक तंगी से जूझ रही हैं। आप लिज्जत पापड़ कंपनी का उदाहरण देख सकते हैं कि कैसे छोटा सा पापड़ उद्योग इतना बड़ा हो सकता है।

8)मेहंदी लगाने का व्यवसाय

भारतीय संस्कृति में विवाह एवं अन्य मांगलिक कार्यक्रमों में मेहंदी लगाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। इस व्यवसाय के लिए किसी मशीन को खरीदने की भी आवश्यकता नहीं है। बस अपने हुनर को उभारने की जरूरत है। आज हाथों पर मेहंदी डिजाइन बनाने के लिए 200 से  Rs300 मिलते हैं, वही शादियों में मेहंदी लगाने के लिए आपको 10000 तक दिए जा सकते हैं। इस व्यवसाय की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। मेहंदी डिजाइन सीखने के लिए आप विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत प्रशिक्षण भी ले सकते हैं। कम लागत का यह कारोबार अधिक मुनाफा प्रदान करने के लिए बहुत अच्छा व्यवसाय है।

9)चूड़ी बनाने का उद्योग

चूड़ी बनाने का व्यवसाय आप घर बैठकर अपने परिवार के सहयोग के साथ शुरू कर सकते हैं। इस व्यवसाय में सबसे महत्वपूर्ण और आवश्यक चीज है, चूड़ी बनाने की मशीन खरीदना जिसकी कीमत 50 से 60 हजार होती है। इसके अलावा आपको कच्चा माल भी खरीदना होगा आप महिलाओं के हाथों में पहनने वाले प्लास्टिक की फैंसी चूड़ियां भी बना कर भेज सकते हैं इस व्यवसाय से लगभग आपको 1000 प्रतिदिन की कमाई हो सकती है इनकी मार्केटिंग व पैकेज आपको खुद ही करनी पड़ेगी।

10)आइसक्रीम व्यवसाय

गर्मियों के मौसम में अपने आप को ठंडक देने के लिए आइसक्रीम से अच्छी चीज कोई और हो ही नहीं सकती वैसे देखा जाए तो आइसक्रीम का व्यवसाय भारत में साल भर चलता रहता है क्योंकि कई लोग ऐसे हैं जो हर मौसम आइसक्रीम खाना पसंद करते हैं यदि आप अपना खुद का लघु व्यवसाय शुरू करने की सोच रहे हैं तो यह व्यवसाय बहुत अच्छा साबित हो सकता है भारत में आइसक्रीम की खपत अधिक होती है लेकिन भारत में आइसक्रीम निर्माताओं की संख्या बहुत कम है इसलिए आप इस बात का फायदा उठाकर आइसक्रीम व्यवसाय में अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

11) सौंदर्य एवं श्रृंगार उद्योग

शरीर की सुंदरता बढ़ाने में काम आने वाले प्रोडक्ट्स को कॉस्मेटिक्स भी कहते हैं। इनका संबंध शरीर के किसी अंग के मेकअप से जुड़ा होता है। कॉस्मेटिक प्रोडक्ट दो तरह के होते हैं; प्राकृतिक एवं कृत्रिम। आजकल पश्चिम सभ्यता के चलते इनकी डिमांड दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। इस उद्योग से जुड़कर आप अच्छा मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं और सरकार के द्वारा निशुल्क प्रशिक्षण भी प्राप्त कर सकते हैं। जिससे आपको इस व्यवसाय को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी। इस प्रशिक्षण की अवधि 4 माह होती है, और इसके लिए 10वीं पास होना आवश्यक है।

दोस्तों यह थे कुछ व्यवसाय जिन्हें आप छोटी पूंजी से शुरू कर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं, लेकिन कुछ ऐसे व्यवसाय भी हैं, जो इस लिस्ट में नहीं है, परंतु वह भी महत्वपूर्ण है और आपको लाभ दिला सकते हैं। हमारे पास ऐसे व्यवसायों के अनेकों उदाहरण हैं, जिन्होंने सबसे पहले छोटे प्रारूप से शुरुआत की थी और आज बड़े उद्योग बन चुके हैं।

आइए अब हम बात करते हैं कि सरकार इन व्यवस्थाओं को आगे बढ़ाने के लिए क्या क्या आर्थिक मदद कर रही है।

भारत को हाल ही में दुनिया का एकमात्र उभरता हुआ बाजार कहा गया है और इस उभरते हुए बाजार का एक सबसे बड़ा हिस्सा है सुषमा लघु और मध्यम उद्योगों द्वारा निवेश। (SME) एसएम उद्योग, कुल जीडीपी में 40% से अधिक का योगदान देता है और भारत की बढ़ती आबादी के लिए रोजगार प्रदान करने का महत्वपूर्ण स्रोत बना हुआ है। डिमॉनेटाइजेशन के बाद SME में विकास को महत्व देते हुए सरकार ने कुछ व्यवस्थाएं और ऋण योजनाएं शुरू की हैं, जिस्से सभी भारतीय लोग जो, व्यवस्थाएं शुरू करना चाहते हैं, उनको लाभ मिल सके। इन योजनाओं के तहत आप लघु व्यवसाय के लिए लाभ उठा सकते हैं। सरकार द्वारा कुटीर उद्योग शुरू करने एवं संचालन करने के लिए कम ब्याज दरों पर लोन दिया जाता है। यह लोन किसान क्रेडिट कार्ड योजना के जरिए बिना किसी दस्तावेज के भी मिल जाता है और आप चाहे तो मुद्रा लोन भी ले सकते हैं। सरकार ने छोटे-छोटे व्यवसायों को संरक्षित करने के लिए सब्सिडी का भी प्रावधान रखा है, जिसका छोटे उद्यमी लाभ उठा सकते हैं। यह योजनाएं इस प्रकार हैं;

  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना
  • प्रधानमंत्री रोजगार जनरेशन प्रोग्राम
  • प्रधानमंत्री रोजगार योजना
  • राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम

इन योजनाओं के माध्यम से सरकार ने कुटीर उद्योग को बेहतर बनाने की कोशिश की है कुटीर उद्योग के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप नजदीकी बैंक के जिला उद्योग केंद्र से भी संपर्क कर सकते हैं।

आशा करता हूं कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। ऐसे जानकारी पूर्ण लेख के लिए K4 मीडिया के साथ जुड़े रहें । आप अपनी राय हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं और इस पोस्ट को शेयर करना ना भूले। आप हमें इंस्टाग्राम, टि्वटर, फेसबुक, पर भी फॉलो कर सकते हैं। займы на карту без отказа


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *