कैसे बचे एटीएम कार्ड के फ़्रॉड से? अगर इन सब बातों का ध्यान रखा जाए, तो बच सकते हैं आपके पैसे!!

समय के साथ-साथ चीजें भी बदल रही हैं और उनका विकास हो रहा हैं। पहले के समय में झंझट ज्यादा होते थे और काम करना मुश्किल होता था। परंतु, आज के समय में झंझट कम है और काम करना बहुत ही आसान। इसी को मद्देनजर रखते हुए, जो लोग चोरी-चकारी करते हैं। वह भी उन्हीं तरीकों के उपाय बना रहे हैं, जिससे कि इंसान को आराम से फसाया जा सकता है।

इंसान के लिए सबसे जरूरी क्या होता है: उनका परिवार और उनकी आमदनी। परिवार को तो आप सुरक्षित रख लेते हैं, परन्तु, आमदनी का क्या?। पहले भी हम आपको बता चुके हैं कि बैंक के खाते की किन सूचनाओं के बारे में आपको जरूरी जानकारी देनी चाहिए। परंतु, आज हम आपको आपके बैंक के खाते से जुड़े उस छोटे से कार्ड के बारे मे बताने आए हैं, जिसको आप एटीएम कार्ड भी बोलते हैं। हैरानी वाली बात तो यह हैं कि उससे भी फ्रॉड किए जा सकते हैं। नीचे दिए गए नियमों का पालन करते हुए आप इन सब फ्रॉडों से बच सकते हैं। तो आइए जानते हैं क्या-क्या फ्रॉड होते हैं और उनसे बचने के कोन से उपाय हो सकते हैं?।

एटीएम कार्ड से बढ़ते फ्रॉड

हम कई बार टीवी में यह देख चुके हैं या सुन चुके हैं कि जब भी आप किसी एटीएम में पैसा निकालने जाते हैं। तो कार्ड की जानकारी (एटीएम पिन) डालने से पहले आप अपने हाथों से उस नंबर को छुपा ले। ज्यादातर पाया जाता है कि ऊपर कैमरा लगा होता है। उस कैमरे की मदद से ऐटीएम पिन आराम से पता किया जा सकता है। और अगर आपका एटीएम पिन किसी को भी पता चल जाए। तो वो उसके ज़रिये आराम से पैसे निकाल सकता हैं।

उसी प्रकार जब आप अपने एटीएम से पैसे निकालते हैं। तो आप ध्यान रखें की जहां पर कार्ड का स्लॉट होता है। वहां पर हरी बत्ती जल रही है कि नहीं?। अगर वहां पर हरी बत्ती जल रही है, तभी अपने कार्ड को उस एटीएम में स्वाइप करें। वरना ऐसी गलती बिल्कुल भी ना करें क्योंकि यही गलती आपके लिए बहुत हानिकारक साबित हो सकती है।

कार्ड क्लोनिंग: कार्ड का नकल बनाना

क्या आपने कभी कार्ड क्लोनिंग के बारे में सुना है? क्या होता है यह सब? तो कार्ड क्लोनिंग का मतलब होता है की कार्ड का प्रतिरूप बनाना अर्थात आपके कार्ड की एक हमशक्ल कॉपी बनाई जा सकती है। उस कॉपी का इस्तेमाल करके आपके अकाउंट से कब पैसे निकाल लिए जाएंगे, इसका आपको भी नहीं पता चलेगा। तभी आपको इन सब चीजों का ध्यान रखना चाहिए।

हालांकि, इस कार्य को समझने के लिए आपके पास तकनीकी सूझ बुझ होनी चाहिए। लेकिन, अगर सरल भाव में हम आप को समझाएं तो उस एटीएम मे एक स्कैनर लगा होता है। जब आप अपना कार्ड उसमे डालते हैं तब स्कैनर की मदद से आपके कार्ड से सारी ज़रूरी जानकारी स्कैन कर ली जाती है। वहीं पर एक ब्लूटूथ कनेक्शन भी होता है जिसके ज़रिये वह जानकारी उसके पास पहुँचती हैं । उसी जानकारी की मदद से उस व्यक्ति का काम हो जाता है और फिर आपके खाते से पैसे गायब होने लगते हैं।

एटीएम कार्ड स्लॉट

सबसे पहले तो हम आपको साधारण स्लॉट और असाधारण स्लॉट की विशेषताओं से वाकिफ कराना चाहते हैं।

साधारण स्लॉट की विशेषताएं

एक आम स्लॉट में हरी बत्ती जल रही होती है। जहाँ से आप अपना कार्ड उसमे डालते हैं, वहां पर कार्ड फंस जाता है और जब तक आप पैसे नहीं निकालते तब तक वो बाहर नहीं निकलता है। उसको देख कर आपको ऐसा नहीं लगता हैं की उसमें किसी भी प्रकार की छेड़खानी की गयी हैं।

असाधारण स्लॉट की विशेषताएं

ऐसी स्लॉट में लाल या कोई भी अन्य रंग की बत्ती जल रही होती है। वह आम स्लॉट के मुक़ाबले ढीला होता है। अगर आपको उसमें थोड़ी सी भी कोई दिक्कत लगती है, तो मतलब उसमें छेड़खानी हुई है। यहाँ तक की अगर आपको लगता हैं की कोई आप पर नज़र रख रहा हैं, इसका मतलब भी कोई दिक्कत हैं।

ऐसे समय में आपको क्या करना चाहिए?

ऐसे समय मे आपको दो काम करने चाहिए। या तो आपको शाखा प्रबंधक से बात करनी चाहिए और अगर बैंक बंद है तो आपको फ़ौरन पुलिस के पास जाना चाहिए। इससे आप पुलिस की बहुत मदद कर सकते हैं क्योकि पुलिस वहां पर मौजूद फ्रॉड करने वाले इंसान की उंगलिओं के निशान ले सकती है। इसके अलावा उनको वहां से कई और भी जरूरी जानकारी मिल सकती है जैसे ब्लूटूथ इत्यादि। इसके द्वारा वह उस व्यक्ति तक आराम से पहुंच सकते है। ध्यान रखे की आप ऐसा करके दूसरे लोगों को भी इस साजिश में फसने से बचा सकते हैं। unshaven girl


Posted

in

by

Tags:

Comments

One response to “कैसे बचे एटीएम कार्ड के फ़्रॉड से? अगर इन सब बातों का ध्यान रखा जाए, तो बच सकते हैं आपके पैसे!!”

  1. Dev Rajput Avatar
    Dev Rajput

    Nice article for current issue …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *