ये तेंदुआ रोज रात गाय से मिलने क्यों आता था?

एक फ़ोटो जिसमें एक तेंदुआ और गाय साथ पाए गए अभी बहुत वायरल हो रहा है। इस फ़ोटो को वडोदरा के अंतोली गाँव मे लिया गया।

फ़ोटो में शिकार और शिकारी को साथ देख कर सब चौके। इस फ़ोटो की कहानी 2002 मे शुरू हुई जब इन दोंनो के मिलने का सिलसिला शुरू हुआ । हर रात तेंदुआ गाय के पास आता और उसे गले लगा लेता। गाय ममता से भर कर उस तेंदुए को ख़ूब प्यार करती। गाय उसके गाल ,कान और गर्दन को चाटती। गाय उसे अपना ही संतान समझ कर प्यार करती।

गाय से कुछ दूर ही बकरियाँ बंधी होती पर तेंदुए ने कभी भी उन पर आक्रमण नही किया। तेंदुआ कभी उन बकरियों की ओर कुदृष्टि से देखता भी नही था । कहा गया की कुत्ते तेंदुआ के आने की ख़बर भी देते। होता ये था की जब भी तेंदुआ आता तो भयभीत हो कर कुत्ते भौंकने लगते। इससे वहाँ रहने वाले लोग भी सचेत हो जाते और घरों मे ही रहते । इसके अतिरिक्त गाय को भी ख़बर मिल जाता की उसके पुत्र के समान तेंदुआ आ रहा है ।

वन अधिकारी एच एस सिंह ने कहा की कई बार जानवरों के व्यवहार भी बदलते है । जानवरो को भी प्रेम का अधिकार है ।  उन्हें भी मनुष्य की तरह एक संपूर्ण परिवार की आशा होती है। ये बोल नही सकते किंतु रिश्ते ये भी निभा सकते है । जिस तरह गाय तेंदुए को अपने ही संतान का स्थान दे देती है और उसकी ओर ममता का भाव रख कर उसे बहुत प्रेम देती हैं उससे हमें पता चलता है कि जानवरों को भी परिवार के सहारे की आवश्यकता होती है । unshaven girls


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *