भारतीय मूल की सरिता कोमातीरेड्डी को ट्रंप ने नॉमिनेट किया फेडेरल कोर्ट का जज

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय मूल की अमेरिकी वकील को न्यूयॉर्क की संघीय अदालत में बतौर न्यायाधीश नियुक्त किए जाने के लिए सोमवार को नामित किया।

सरिता कोमातीरेड्डी जो कोलंबिया लॉ स्कूल में क़ानून पढ़ाती है और ब्रेट कैवनॉ ,पूर्व न्यायाधीश, के दिशा निर्देश में काम भी कर चुकी है। वे जून 2018 से जनवरी 2019 तक अंतरराष्ट्रीय नकोर्टिक्स और धनशोधन के कार्य भी कर चुकी है।

अन्य कार्य में से , कंप्यूटर हैकिंग और बौधिक सम्पदा समनवयक जो इन्होंने साल 2016 से 2019 तक किया और बीपी डीपवॉटर हॉरिजन ऑयल सपिल एंड ऑफशोर डिलिंग पर राष्ट्रीय आयोग पर वक़ील भी रही है । यह ऑयल रिग गल्फ़ ऑफ मेकसिको में स्थित है।

ये भारत के तेलंगाना से है और इनके माता पिता दोनो ही डाक्टर है । इनके पिता , हनुमंथ रेड्डी , हार्ट के डाक्टर है और इनकी माता , गीता रेड्डी ह्रुमेटोलॉजिस्ट है।

डोनाल्ड ट्रम्प ने वाशिंगटन में 12 फ़रवरी को इन्हें न्यूयॉर्क की संघीय अदालत में न्यायाधीश के पद के लिए नामित किया।

ये पहले जॉर्ज वाशिंगटन यूनिवर्सिटी लॉ स्कूल में भी पढा चुकी है और प्राइवेट कंपनी जैसे – कैलोग , हॉनसेन  में काम करने का अनुभव भी रखती है। इन्होंने हारवार्ड युनिवेरसिटी से अपनी पढ़ाई की है। मई 4,2020 को इनके नामित होने के कार्य को आगे बढ़ाया गया और अब अमेरिका की सेनेट इसका निर्णय लेगी। ट्रम्प ने इन्हें जोसेफ़ एफ बीयंका के स्थान को भरने के लिए नामित किया । hairy women


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *