Category: ज्योतिष

  • Rashifal 9 May: शनिदेव की कृपा से चमकेगा इन 5 राशियों का नसीब, जानिए क्या कहते हैं आपके सितारे

    Rashifal 9 May: शनिदेव की कृपा से चमकेगा इन 5 राशियों का नसीब, जानिए क्या कहते हैं आपके सितारे

    हम आपको शनिवार 9 मई का राशिफल बता रहे हैं। राशिफल का हमारे जीवन में बहुत महत्व होता है। राशिफल के जरिए भविष्य में होने वाली घटनाओं का आभास होता है। राशिफल का निर्माण ग्रह गोचर और नक्षत्र की चाल के आधार पर किया जाता है। हर दिन ग्रहों की स्थिति हमारे भविष्य को प्रभावित…

  • जन्म कुण्डली के द्वादश भाव क्या-क्या बताते हैं?

    जन्म कुण्डली के द्वादश भाव क्या-क्या बताते हैं?

    कुण्डली के द्वादश भावों से जातक के जीवन सम्बन्धी जानकारी प्रप्त होती है। इन भावों से क्या-क्या पता लगता है। अथवा यह भाव क्या-क्या सूचित करते हैं, इस प्रकार है – प्रथम भाव प्रथम भाव लग्न का होता है। प्रथम भाव से आदि रंग-रूप, स्वभाव, शारीरिक गठन, स्वास्थ्य, सम्वृद्धि आदि ज्ञात होता है। यह भाव…

  • नक्षत्र परिचय एवं महत्व

    नक्षत्र परिचय एवं महत्व

    1. अश्विनी इसकी क्रमांक संख्या एक है। इस नक्षत्र के प्रभाव में जन्म लेने वाले जातक देखने में सुन्दर होते हैं। यह कार्य में निपुण होते हैं तथा लोकप्रिय होते हैं। यह धनी होते हैं और साधारणतया भाग्यवान होते हैं। ये चतुर होते हैं तथा इनकी बुद्धि तीक्षण होती है। ये शान्त स्वभाव परन्तु होशियार…

  • ग्रह परिचय एवं महत्व

    ग्रह परिचय एवं महत्व

    1. सूर्य सूर्य जीवन शक्ति का प्रतीक है। यह सब ग्रहों से बलवान है क्योंकि यह समस्त ग्रहों का चालक है। सूर्य से ही सब ग्रहों को तेज मिलता है। यह सिंह राशि का स्वामी है तथा इसकी आकृति चिन्ह कर सिंह है। यह अग्नि तत्व तथा आत्मकारक ग्रह है। इसकी जाति क्षत्रिय, धातु सोना…

  • राशियों का परिचय एवं महत्व

    राशियों का परिचय एवं महत्व

    भचक्र को राशिचक्र भी कहा जाता है।राशिचक्र या भचक्र को ZODIAC भी कहा जाता है। वास्तव में भचक्र या राशिचक्र एक ऐसी पेटी अथवा क्षेत्र है जिसके भीतर-भीतर ही सर्य आदि ग्रह भ्रमण करते हैं, अथवा इस चक्र से बाहर जा ही नहीं सकते। अतः भचक्र एक कलिपत वृत है। अंतरिक्ष में सूर्य जिस मार्ग…

  • ज्योतिष शास्त्र के भेद

    ज्योतिष शास्त्र के भेद

    ज्योतिष शास्त्र के मुख्य रूप से दो भेद हैं। आदि काल के अन्त में यही दो भेद स्वतन्त्र रूप से विकसित हुए। वे हैं-गणित ज्योतिष और दूसरा फलित ज्योतिष। 1.गणित ज्योतिष गणित ज्योतिष के अर्न्तगत करण, तन्त्र व सिद्धान्त का ग्रहण होता है। पंचांग आदि इसी से बनाए जाते हैं। प्राचीन ग्रन्थों जैसे सूर्य सिद्धान्त…

  • KP Astrology – KP System (Krishnamurthy paddhati)

    KP Astrology – KP System (Krishnamurthy paddhati)

    श्री गणेशाय नमः केपी पद्धति में नक्षत्रों को महत्व दिया गया है । दशा पद्धति ऋषि पराशर द्वारा प्रदत्त विंशोत्तरी दशा पद्धति को घटनाओं के समय निर्धारण हेतु उपयोग में लाया जाता है। विंशोत्तरी दशा पद्धति 120 वर्ष की होती है जिसमें सभी ग्रहों ( राहु केतु को छोड़ कर ) को विभिन्न वर्ष दिये…

  • इन दो राशियों को रहती है धन की कमी,अगर आपकी भी यही राशी है तो जाने उपाय

    इन दो राशियों को रहती है धन की कमी,अगर आपकी भी यही राशी है तो जाने उपाय

    हर कोई चाहता है कि उसके पास पर्याप्त धन हो और जीवन में कभी भी धन की कमी न हो। लोग ऐसा करने का प्रयास करते हैं, लेकिन अक्सर ऐसा होता है कि कोशिशों के बावजूद घर में धन की कमी होती है। आप पैसा कमाते हैं, लेकिन अधिक खर्च करते है। “आमदनी अट्टन्नी खर्चा…

  • इन कुछ उपायों को नए साल 2020 में करें, सभी समस्याएं आपसे दूर हो जाएंगी

    इन कुछ उपायों को नए साल 2020 में करें, सभी समस्याएं आपसे दूर हो जाएंगी

    हम जल्द ही नए साल में प्रवेश करेंगे और सीखेंगे कि कैसे नए साल में पैसा कमाना है, कैसे बीमारी से दूर रहना है, कैसे काम करना है और कैसे जीवन की समस्याओं से दूर रहना है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे। इस लेख में हम आपको इन कुछ उपायों के…