ये औरत भूखे पेट रहकर खाना खिला रही है कुत्तों को, खिलाने के बाद जो भी बचता, उससे करती हैं अपना गुज़ारा

पूरे विश्व के लिए लॉक डाउन का समय बहुत ही मुश्किल भरा है। अगर भारत कि बात करें तो कुछ लोगों के सामने यह दिक्कत है कि वह बाहर नहीं निकल सकते। वहीं दूसरों के सामने यह दिक्कत है कि घर मे राशन-पानी खत्म हो रहा है इत्यादि। परंतु, आज हम आपके सामने एक ऐसी महिला की कहानी लेकर आए हैं, जो अपना पेट काटकर ना बोल पाने वाले जानवरों का पेट भर रही है। वह उनको पालने के लिए अपनी सेहत पर भी ध्यान नहीं देती। उनके लिए जो भी हैं वह सिर्फ हीं सिर्फ कुत्ते हीं हैं।

 

हम बात कर रहे हैं चेन्नई के छोटे से शहर में रहने वाली महिला मीना जी की। मीना बहुत ही गरीब है और उनको अपना घर चलाने के लिए दूसरे घरों में जाकर खाना बनाना पड़ता है। इसी काम के द्वारा वह अपना रोजगार कमाती है और दो वक्त की रोटी का इंतजाम कर पाती हैं।

यूँ तो वह इंसानी तौर पर अकेली है। परंतु, उनका ध्यान रखने के लिए उनके साथ 21 कुत्ते रहते हैं। जी हां, 21 कुत्ते और उन्होंने उनके खाने-पीने से लेकर रहने तक की जिम्मेदारी खुद ही उठा रखी है। लेकिन, लॉक डाउन की घड़ी में उनके लिए यह बहुत ही मुश्किल हो गया है। इसका कारण यह हैं कि उनको लॉक डाउन कि वजह से घरों में काम मिलना कम हो गया हैं।

काम कम होने कि वजह से उनकी आमदनी भी ना के बराबर हो गई है। इसी वजह से वह अपने और कुत्ते के खाने का भी इंतजाम नहीं कर पा रही है। सबका पेट पालने के लिए उन्होंने एक निर्णय लिया था। वह यह था कि किसी भी तरीके से वह अपना और कुत्तों के खाने का इंतजाम शुरू करेंगी। परंतु, वह ऐसा करने में असफल हो गई थी। पर उन्होंने हार नहीं मानी और अब उन्होंने अपनी खुराक कम करने का निर्णय लिया।

आपको बता दें कि वह उन जानवरों का पेट भरने के लिए दिन भर में सिर्फ एक समय का खाना खाती हैं। बाकी खाना वह कुत्तों को खिला देती हैं। वह 21 कुत्ते पालने के अलावा सड़क पर भी घूमने वाले कुत्ते को खाना देती है। इसी वजह से आज वह पूरे देश भर में मशहूर हो चुकी है।

कुछ ही दिन पहले उन्होंने अपने विचारों को संक्षेप में बताते हुए जनता तक अपना यह सन्देश पहुंचाया था कि:

“मुझे खाने का कोई भी शौक नहीं है। इसी वजह से मैं उन ना बोल पाने वाले जानवरों को सारा खाना दे देती हूं। और उनको खिलाने के बाद जो भी बचता है, वों मे खुद खा लेती हूं। “

ऐसे दयावान इंसान को तो भगवान भी नमन करते हैं। एक तरफ वह जितना कोशिश कर रही हैं, दूसरी तरफ उनके लिये दिन पर दिन उतनी हीं कठिनाइयां बढ़ती जा रही हैं। समय के साथ खाने की भी कमी होती जा रही है। इन सब समस्याओं के बावजूद मीना को आगे बेहतर समय की उम्मीद है।

Cover Photo: TOI hairy women


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *