महिलाओं के गर्भ धारण करने का सही समय क्या है?

बालपन से युवावस्था में आने पर शरीर में कई बदलाव होते हैं। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में यह बदलाव बहुत सारे चेंज लेकर आते हैं। महिलाओं में हार्मोन से होने वाले बदलाव की वजह से मासिक धर्म शुरू होता है। यह सभी को एक उम्र में शुरू नहीं होता। यह मासिक धर्म, कुछ लड़कियों में 2 से 7 दिन तक रह सकता है और कुछ-कुछ में 3 से 5 दिन तक।

मासिक धर्म के साथ-साथ महिलाओं में ओवुलेशन भी स्टार्ट होता है। ओव्यूलेशन वह समय है जब अंडकोष में अंडा वीर्य से मिलन के लिए तैयार होता है। अगर हम संक्षिप्त में कहना चाहे तो यह वह समय है जब कोई भी महिला गर्भधारण कर सकती है।

आज हम अपने पाठकों को इस आर्टिकल के माध्यम से ओव्यूलेशन  के बारे में पूरी जानकारी देना चाहेंगे।

क्या है ओव्यूलेशन?

ओव्यूलशन महीने का वो समय होता है जब हर महीने ओवरी अंडा रिलीज करती है। इस समय के दौरान एक महिला सबसे फर्टाइल होती है। यानी इस समय महिला आसानी से गर्भधारण कर सकती है।

ओव्यूलेशन आम तौर पर एक दिन तक रहता है और एक महिला के मासिक चक्र के बीच में होता है। दो सप्ताह पहले वह अपनी अवधि प्राप्त करने की उम्मीद करती है। लेकिन इस प्रक्रिया का समय प्रत्येक महिला के लिए अलग-अलग होता है, और कभी-कभी यह महीने-दर-महीने भी अलग हो सकता है।

अगर एक महिला गर्भवती होने की उम्मीद कर रही है, तो वह अपनी ओवुलेशन का ट्रैक रखना शुरू कर दे। यह जानना इसलिए जरूरी है क्योंकि ओवुलेशन वह समय है, जब महिला सबसे अधिक फर्टिलिटी होती है और ओवुलेशन के समय गर्भवती होना आसान है।

कब शुरू होता है ओवुलेशन

ओवुलेशन आम तौर पर 28 दिनों के मासिक चक्र में 14-15 वे दिन के आसपास होता है। परंतु, सभी महिलाओं में मासिक चक्र 28 दिन का नहीं होता। इसलिए हर महिला में यह अलग-अलग समय पर होता है। यदि आप बच्चे पैदा करने की उम्र में हैं, तो आपका मासिक चक्र 28 से 32 दिनों के बीच रह सकता है और ओवुलेशन आमतौर पर उस चक्र के दिन से 10वे और 19वे दिन के बीच होता है।

ज्यादातर यह माना जा सकता है कि आपके मासिक चक्र के बीच में, चार दिन पहले या चार दिन बाद के समय में ओवुलेशन होता है। आप अपनी वास्तविक मासिक धर्म की अवधी के हिसाब से इसका आकलन कर सकती हैं। ल्यूटिनाइजिंग (LH) वह हार्मोन है‌ जिसके बढ़ने के कारण ओवरी से परिपक्व अंडे के बाहर निकलने का कारण बनती हैं, जिससे ओवुलेशन होता हैं। सामान्य रूप से, LH में वृद्धि के कारण 24 से 36 घंटे बाद ओवुलेशन होता है, यही वजह है कि (LH) में वृद्धि होना फर्टिलिटी होने के अधिक संभावना के बारे में बताता है। ओवुलेशन के 24 घंटे बाद तक ही अंडे को फर्टाइल किया जा सकता है। यदि अंडा फर्टिलाईज़ नहीं होता है तो यह गर्भाशय की लाइनिंग में मिल जाता है और आपके मासिक चक्र का समय फिर शुरू हो जाता है।

ओवुलेशन के लक्षण

कई महीलाएँ ओव्यूलेशन के किसी भी संकेत को नोटिस नहीं कर पाती हैं। यदि आप ओव्यूलेशन के संकेतों की तलाश कर रहे हैं, तो आप नोटिस कर सकते हैं नीचे दिए गए लक्षण:

  • लाइट स्पॉटिंग (सभी लोग इसे अनुभव नहीं करते हैं)
  • आपके पेट के एक तरफ थोड़ा सा दर्द
  • सूजन
  • डिस्चार्ज में बदलाव
  • स्तन में कोमलता
  • सेक्स करने की इच्छा

अगर कोई महिला गर्भवती होना चाहती है तो उसे अपने ओवुलेशन साइकिल को जरूर ट्रैक करते रहना चाहिए। बाजार में मौजूद ओवुलेशन किट से आप यह सुनिश्चित कर सकती हैं कि आप फर्टाइल है या नहीं और कौन सा सही समय है आपके गर्भधारण करने का।

हम आशा करते हैं कि आपको आर्टिकल पसंद आया होगा। अपनी राय हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं और ऐसे ही स्वास्थ्य संबंधी आर्टिकल्स पढ़ने के लिए K4 Feed के साथ जुड़े रहें। займ на карту без отказов круглосуточно


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *