दूध में गुलकंद मिलाकर पिएं, पास नहीं भटकेंगी यह 6 बीमारियां

दूध के अपने अलग फायदे होते हैं । दूध पीने से हमारा शरीर तंदुरुस्त रहता है। दूध से ही तमाम तरह के तरल पदार्थ बनाए जाते हैं। लेकिन क्या आपको पता है अगर हम अपने दूध में गुलकंद मिलाकर पिए तो हम अनेक बीमारियों से बच सकते हैं । वैसे गुलकंद का भी सेवन तमाम प्रकार से किया जाता है। गुलकंद को दूध में मिलाकर पीने से क्या फायदे हैं और गुलकंद क्या है ? इसके बारे में हम आपको इस लेख में बताएंगे।

क्या है गुलकंद?

बहुत लोगों के लिए गुलकंद शब्द नया होगा। क्योंकि शायद आप में से कई लोग गुलकंद के बारे में पहले कभी नहीं सुने होंगे। लेकिन आज हम आपको गुलकंद से जुड़ी एक – एक बात बताएंगे।

गुलकंद नाम से ही मालूम होता है कि यह खाद्य पदार्थ गुलाब के फूलों से ही बनाया जाता है। इसे आप भी अपने घर पर बना सकते हैं। कई लोग तो गुलाब की पत्तियों से गुलकंद बनाकर इसे रोजाना नियमित रूप से खाते भी हैं ताकि उनकी स्किन यानी उनका चेहरा ग्लो कर सके। चेहरे को साफ सुथरा रखने के लिए भी गुलकंद का इस्तेमाल किया जाता है। अगर हम गर्मी की बात करें तो गर्मियों में गुलकंद का इस्तेमाल करना काफी लाभदायक हो सकता है।‌

आंखो के लिए फायदेमंद

हमने आपको पहले ही बताया कि गुलकंद हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। अगर आप अपनी आंखों का अच्छे से ख्याल रखना चाहते हैं तो गुलकंद आपकी मदद कर सकता है। जी हां अच्छी आंखों के स्वास्थ्य के लिए गुलकंद आपके लिए काफी लाभदायक हो सकता है। ‌अगर हम वैज्ञानिक अध्ययन की बात करें तो वैज्ञानिक अध्ययन में भी पाया गया है कि गुलकंद का रोजाना सेवन करने से आंखों की रोशनी बढ़ाई जा सकती है साथ ही साथ गुलकंद हमें अन्य नेत्र रोगों से भी बचाए रखता है। दूध के साथ इसके इस्तेमाल की बात की जाए तो अगर हम दूध में इसको मिलाकर पीते हैं तो आंखों के लिए यह अत्यंत लाभदायक हो सकता है । अगर आप या आपके किसी चाहनेवाले या किसी करीबी को आंखों की समस्या है तो जरूर उसे यह बताएं कि रोजाना दूध में गुलकंद मिलाकर पीयें,  शायद ऐसा करने से उनकी समस्या दूर हो सकती है ।

छालों की समस्या से दिलाए निजाद

हम सबको पता है जब हमारा पेट कैसे साफ नहीं हो पाता तो हमारे मुंह में अल्सर हो जाते हैं। अल्सर होने की वजह से हम सही से खाना नहीं खा पाते हैं। छालों को ठीक करने के लिए गुलकंद का इस्तेमाल किया जा सकता है। गुलकंद में विटामिन-बी ग्रुप के सभी विटामिंस पाए जाते हैं, जो मुंह के छालो को ठीक करने में अत्यंत लाभदायक होते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार मुंह के छालों यानी अल्सर को ठीक करने में विटामिन बी को कारगर माना जाता है। अगर आपको किसी कारण छाले पड़ गए हैं तो आप गुलकंद का सेवन कर अपने छाले ठीक कर सकते हैं।

याददाश्त को मजबूत करने में सहायक

अपनी याददाश्त को मजबूत करने के लिए हम ना जाने क्या – क्या नुक्से अपनाते हैं। गुलकंद को दूध में मिलाकर पीने से आप अपनी याददाश्त को मजबूत कर सकते हैं। गुलकंद में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट याददाश्त को बढ़ाने में सहायक होती है। अगर आप अपनी याददाश्त बनाना चाहते हैं और अपने दिमाग को शांत रखना चाहते हैं ताकि आपका दिमाग अच्छे से काम कर सके तो आप दूध में गुलकंद मिलाकर पिएं। दूध और गुलकंद का साथ सेवन करने से आपका दिमाग शांत रहेगा और आपकी मेमोरी तेज हो जाएगी।

मोटापे को भी करे खत्म

आज के इस दौर में मोटापा एक ऐसी बीमारी है जो सभी को घेर सकती है। अपने मोटापे को कम करने के लिए ना जाने कितने लोग अलग-अलग तरह की दवाई और खाद्य पदार्थ का इस्तेमाल करते हैं। मोटापे के कारण हमें कैंसर और टाइप टू डायबिटीज जैसी खतरनाक बीमारियों का भी खतरा रहता है। मोटापे को कम करने के लिए हम ट्रेनर ढूंढते हैं, ट्रेनर नहीं मिलता तो खुद ही अपनी डायट में हल्के फूड शामिल कर मोटापा कम करने के लिए हम खुद ही कम करना शुरू कर देते हैं। कैंसर और टाइप टू डायबिटीज जैसी भयानक बीमारियों से बचने के लिए हमें अपने मोटापे को कम करना बहुत ही जरूरी होता है। मोटापे को कम करने के लिए गुलकंद फायदेमंद साबित हो सकता है।‌ नेशनल सेंटर फॉर बायोलॉजिकल इंफॉर्मेशन के रिसर्च के मुताबिक मोटापा कम करने यानि वजन घटाने के लिए गुलकंद का रोजाना सेवन करना सकारात्मक साबित हो सकता है। यानी अब तो रिसर्च में भी या साबित कर दिया है कि अगर आप मोटापा घटाना चाहते हैं तो सबसे आसान और देसी नुकसा है कि आप गुलकंद का सेवन करें गुलकन का सेवन कर आप अपने मोटापे भरे शरीर को स्लिम और फिट शरीर में बदल सकते हैं।

कब्ज  से राहत

अगर हमारे पेट का स्वास्थ्य सही नहीं रहता तो हम कई बीमारियों के गिरफ्त में आ सकते हैं। कब्ज की समस्या एक ऐसी समस्या है जो हमारी पाचन क्रिया से जुड़ी हुई है। ‌जब हमारा खाना सही से  नहीं  पचता तो हम कब्ज जैसी बीमारी से परेशान हो जाते हैं। डॉक्टर और वैज्ञानिकों के अनुसार मैग्निशियम जैसे पोशाक तत्व कब्ज को ठीक करने में अपनी अहम भूमिका निभाते हैं। मैग्नीशियम जैसे तत्व गुलकंद में भी पाया जाता है। यदि आप भी कब्ज की समस्या से समाधान चाहते हैं और इससे बचे रहना चाहते हैं तो अपने दूध में रोजाना गुलकंद मिलाकर पिएं।

स्ट्रेस से मिलती है राहत

आज के दौर में ज्यादातर लोग मानसिक तनाव से पीड़ित रहते हैं। हम किसी ना किसी वजह से मानसिक तनाव में आ ही जाते हैं। स्ट्रेस की समस्या हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी नुकसान पहुंचाने का काम करती है। वैज्ञानिकों के अध्ययन में पाया गया है कि एंटीऑक्सीडेंट का सेवन करने से हम स्ट्रेस की समस्या से निजाद पा सकते हैं। हमने आपको पहले ही बताया है कि गुलकंद में एंटीऑक्सीडेंट जैसे तत्व पाए जाते हैं। दूध के साथ गुलकंद का सेवन करने से हम स्ट्रेस जैसी समस्या से निजाद पा सकते हैं। दूध और गुलकंद का साथ सेवन करने से हमारे शरीर को ऐसे कई पोषक तत्व मिलते हैं जो स्ट्रेस को कम करने का काम करते हैं।

तो अपने देखा कि गुलकंद का उपयोग कर हम कई बीमारियों से निजाद पा सकते हैं। अगर आपको यह लेख उपयोगी लगा हो तो इस पोस्ट को  अपने दोस्तों और करीबियों के साथ शेयर करें।

займ срочно без отказов и проверок


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *